टिकट न मिलने पर शुरू हुआ विरोध

0

उत्तराखंड :वर्षों से भाजपा से जुड़े कार्यकर्ताओं ने बाहर से आए लोगों को टिकट देने के मसले पर विरोध करना शुरू कर दिया है. पौड़ी जिले की हाट सीट कही जाने वाली चौबट्टाखाल विधानसभा सीट से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिहं रावत का तो पत्ता कटा ही, साथ ही सतपाल महाराज को यहां से टिकट देने पर कार्यकर्ताओं में नाराजगी है. जिसके चलते आज पौड़ी में चौबट्टा खाल से दावेदारी कर रहे भाजपा के मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष ने भी चौबट्टाखाल से अपनी निर्दलीय दावेदारी ठोक दी हैं.मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष कविन्द्र ईष्टवाल का कहना है कि पार्टी जनता के बीच में पैराशूट प्रत्याशी उतार कर अपनी सीटे गंवा रही हैं. उन्होंने भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा को अपने किये की सजा जरूर मिलेगी. फिलहाल उन्होंने अभी पार्टी से इस्तीफा देने की बात नहीं कही लेकिन चौबट्टाखाल विधानसभा सीट से अपनी टक्कर सीधे भाजपा के प्रत्याशी सतपाल महाराज से बताई हैं.

वहीं निर्दलीय चुनाव लड़ने पर कवींद्र ईष्टवाल ने इसके पीछे वहां की जनता का सहयोग बताया है. उन्होंने कहा कि वे भाजपा में सन 1993 से एक सच्चे सिपाही की तरह अपने क्षेत्र में काम कर रहे हैं, लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिये जाने पर वही की जनता में भी काफी आक्रोश हैं. उन्होंने कहा कि सतपाल महाराज को टिकट मिलने के बाद से उन्हें चौबट्टाखाल की जनता से और भी ज्यादा सहयोग मिल रहा हैं.

 -वहीँ  नरेन्द्रनगर से ओमगोपाल का टिकट काटने से उनके समर्थक भी क्रोधित हैं ओमगोपाल का कहना है की वे इस सीट पर निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे |

Loading...