जोशीमठ में वेद वेदांग संस्कृत महाविद्यालय से महज 50 मीटर की दूरी पर खुली मधुशाला

0

मदिरालय जाने को घर से चलता है पीनेवला,
‘किस पथ से जाऊँ?’ असमंजस में है वह भोलाभाला,
अलग-अलग पथ बतलाते सब पर मैं यह बतलाता हूँ –
‘राह पकड़ तू एक चला चल, पा जाएगा मधुशाला।

जोशीमठ: जोशीमठ में वेद वेदांग संस्कृत महाविद्यालय से महज 50 मीटर की दूरी पर खुली मधुशाला, जबकि सरकारी शासनादेश में स्कूल, मठ मंदिरों, धार्मिक स्थलों के निकट शराब की दुकान नहीं खोले जाने का प्रावधान है,यह आबाकारी विभाग का नायाब कारनामा देखने को मिला है ।पुरे उत्तराखंड मे एक ओर महिलाओं का जहाँ विरोध जारी है वहीँ सरकारी सिस्टम और शराब माफ़िया अपनी मनमानी पर अड़े हैं ।’ शराब नहीं समाज दो, नशा नहीं रोजगार दो ‘जैसी बातें जहाँ समाज में एक ओर उठ रही है, लेकिन जोशीमठ मे स्कूल और कॉलेज से महज कुछ दूरी पर ही शराब की दुकान खुल गई है अबकारी विभाग द्वारा स्कूल और कॉलेज से महज कुछ दूर ही शराब की दुकान खोल दी है  जो नेता और अधिकारीयों की करनी और कथनी को साफ साफ वयां कार रहा है, ऐसे मे सवाल ये उठता है कि क्या प्रदेश शराब मुक्त हो पायेगा ?

अपनी प्रतिक्रिया आप नीचे Comment Box में दे सकते हैं या fb/pradeshmedia  twitter/pradeshmedia पर भी दे सकते हैं :

@प्रदेश मीडिया 


Loading...