गोदरेज कंपनी के एमडी जमशेद एन गोदरेज बोले, युवा ला सकते हैं बदलाव

0

काशीपुर: गोदरेज एंड बॉयस कंपनी के एमडी जमशेद एन गोदरेज ने कहा कि चीन में बहुत तेजी से मेन्युफैक्चङ्क्षरग यूनिटें लगीं, जिससे वह दुनिया में छा गया। मगर स्थायी विकास की ओर ध्यान नहीं दिया गया, जिससे उसके सामने अब चुनौतियां खड़ी हो गईं। अब चीन भी विकास के लिए दूरगामी लक्ष्यों को महसूस करने लगा है। स्थायी विकास के मामले में देश का प्रदर्शन बेहतर है और अमेरिका के बाद भारत दूसरे नंबर पर है।

ईको सिस्टम को ध्यान में रखकर ग्रीन एनर्जी बिल्डिंग विकसित करने के साथ ही जल, पर्यावरण, जंगल बचाने की जरूरत है। पुरानी परंपरा के साथ सोलर एनर्जी को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। इससे भविष्य में बेहतर इंडस्ट्रीज स्थापित हो सकेंगी। कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में युवा बदलाव ला सकते हैं। मान लें कि बदल सकते हैं तो निश्चित तौर पर देश का विकास होगा। वर्तमान में सिर्फ  विकास ही जरूरी नहीं है, बल्कि विकास दूरगामी लक्ष्यों को ध्यान में रखकर हो। कहा कि कहा जाता है कि देश में 25 फीसद वन क्षेत्र है, जबकि यह तीन फीसद ही है। उन्होंने कुछ बहुमूल्य सीखों के साथ विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया।

भारतीय प्रबंध संस्थान काशीपुर के छठें दीक्षांत समारोह में पीजीपी के 177 व ईपीजीपी के 19 विद्यार्थियों को डिप्लोमा कोर्स का प्रमाण पत्र दिया गया। इस दौरान मेधावी छात्रों को मेडल देकर सम्मानित किया गया। शिवांग गर्ग पीजीपी के तो अरिप्रसाथ ईपीजीपी के टॉपर रहे।

 इन प्रतिभाओं को मिले मेडल 

पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम (पीजीपी) के टॉपर दिल्ली ग्रीन पार्क निवासी छात्र शिवांग गर्ग को गोल्ड, गुजरात राजकोट निवासी चिंतन अमित मेहता को सिल्वर, कोलकाता निवासी कौशिक मंडल को कांस्य व सियालदाह कोलकाता निवासी रूप प्रतिम दत्ता को ऑल राउंड परफार्मेंस का मेडल देकर सम्मानित किया गया।क्यूटिव प्रोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम (ईपीजीपी) के टॉपर छात्र अरिप्रसाथ पुन्नुरंगम को गोल्ड व चंदर मोहन को सिल्वर अवार्ड देकर सम्मानित किया। आइआइएम के निदेशक डॉ. गौतम सिन्हा ने संस्थान की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इसके बाद उन्होंने पासआउट विद्यार्थियों को ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा की शपथ दिलाई। इस मौके पर आइआइएम काशीपुुर के चेयरमैन ध्रुव एम साहनी ने 177 विद्यार्थियों को पीजीपीएम के तहत डिप्लोमा प्रदान किया व 19 विद्यार्थियों को ईपीजीपीएम यानी कार्यकारी विद्यार्थी के तहत डिप्लोमा प्रदान किया।

Loading...