कर भला तो हो भला, 1300 दिए तो मिले 2 करोड़

0
सोचिए आप कही जा रहे हैं और आपके पास पैसे नहीं हैं, उसमें भी आपकी गाड़ी का पेट्रोल रास्ते में किसी ऐसी जगह खत्म हो जाता है जहां आपके लिए रूकना खतरनाक हो. ऐसे में क्या आप ये कल्पना कर सकते हैं कि आपकी मदद सड़क किनारे बैठा एक बेघर व्यक्ति कर सकता है. बता दें कि न्यू जर्सी की रहने वाली एक महिला ने सड़क पर 1300 रुपये की मदद करने वाले एक बेघर व्यक्ति को 2 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

मदद के बदले करोड़ो रुपये
न्यू जर्सी की रहने वाली केट मैकक्लुर नाम की महिला ने जॉनी बॉबिट जूनियर नाम के एक बघर शख्स को पेट्रोल भरवाने के बदले में करोड़ों रुपये दान किये। बता दें कि जॉनी एक ऐसा आदमी है जो बेघर है, लेकिन जब केट को मदद की जरूरत थी तो इस व्यक्ति ने  अनजान होने के बावजूद उसकी मदद की।

women help, sanatarian, crore rupees, Gas, fuel station, fund raises

यह था पूरा मामला 

पिछले महीने केट अपनी कार से फिलाडेल्फिया जा रही थी तब उसके कार का पेट्रोल बीच रास्ते में ही खत्म हो गया। उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था, ऐसे में वह पेट्रोल पंप ढूंढने के लिए कार से उतरी। इतने में सड़क किनारे बैठे एक शख्स को लगा कि वह किसी बात को लेकर परेशान है। वह केट के पास आया और कहा कि वह अपनी कार में बैठकर उसे लॉक कर ले। इसके बाद वो व्यक्ति पंप जाकर पेट्रोल से भरा हुआ कैन लेकर आया। बता दें कि उसके पास खर्च के लिए सिर्फ 20 डॉलर ही बचे थे, लेकिन अपनी समस्या को दरकिनार करते हुए उसने फ्यूल खरीद लिया।

केट ने भी उसकी मदद की 

बीच रास्ते में फंसी केट ने भी उसके पैसे लौटाने का फैसला किया। उसने करीब दो सप्ताह पहले गोफंडमीडॉटकॉम नाम का एक कैम्पेन चलाया ताकि जॉनी को आर्थिक रूप से काफी मदद मिले। केट बेघर व्यक्ति जॉनी के लिए सिर्फ 6 लाख रुपये जुटाना चाहती थी, ताकि जॉनी अपने पैरों पर खड़ा होने तक एक घर, एक गाड़ी और चार-छह महीने का खर्च आसानी से उठा सके। बता दें कि केट अब तक बेघर व्यक्ति के लिए 2 करोड़ से भी अधिक रुपये जुटा चुकी है।

जॉनी ने कहा मदद करना मेरा फर्ज
जॉनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैंने देखा कि एक महिला अपने कार में पेट्रोल खत्म हो जाने को लेकर ऐसे रास्ते पर परेशान थी, जोकि, महिलाओं के लिए सुरक्षित नही था। हर रोज लोग मेरी भी मदद करते हैं और यह किसी को मदद करने का सबसे सुनहरा मौका था, तो मैंने भी उस महिला की मदद कर दी।

केट और उसके हसबेंड ने मिलकर जुटाए रुपये
केट और उसके हसबेंड ने तय किया कि परेशानी में साथ देने वाले उस बेघर व्यक्ति के लिए वे एक कैंपेन के तहत कुछ फंड जमा करेंगे और तोहफे के रूप में उसे भेंट करेंगे।

Loading...