एच-1बी वीजा प्रस्ताव: अमेरिका में रह रहे लाखों भारतीयों को मिली बड़ी राहत

0

अमेरिका में रह रहे विदेशी नागरिकों खासकर भारतीयों के लिए यह बहुत बड़ी राहत की ख़बर है। ट्रंप सरकार की ओर से सोमवार को इस बात की घोषणा की गई है कि वह ऐसे किसी प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है जिसके चलते अमेरिका में  एच1बी वीजा पर रह रहे लाखों लोगों को छोड़कर जाना पड़े।

ट्रंप प्रशासन ने ऐसे किसी प्रस्ताव से साफ इनकार किया है जो एच1बी वीजाधारकों को अधिकतम छह साल बाद ग्रीन कार्ड के लिए इंतजार कर रहे लोगों को वाशिंगटन छोड़ने पर मजबूर होना पड़े।

हिन्दुस्तान टाइम्स को एक बयान में विदेशी लोगों के लिए एच1बी वीजा को देखनेवाली एजेंसी यूएस सिटिजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज (यूएससीआईएस) के चीफ ऑफ मीडिया रिलेशंस जॉनाथन ने बताया- “यूएसआईसीएस की तरफ से एसी-21 की धारा 104 (सी) जो विदेशी नागरिक को एच1बी वीजा पर छह साल से ज्यादा रहने की इजाजत देता है उसमें किसी तरह के बदलाव पर विचार नहीं किया जा रहा है। अगर ऐसा था तो भी फिर भी इस बदलाव के बाद एच1बी वीजाधारकों को अमेरिका छोड़ने पर मजबूत नहीं पड़ता क्योंकि नियोक्ता की तरफ से एसी21 की धारा 106 (ए)-(बी) के तहत एक साल बढ़ाने का अनुरोध कर सकता है। “

वाशिंगटन ने कहा, “राष्ट्रपति के शासकीय आदेश बाय अमेरिकन, हायर अमेरिकन के आदेश के बाद एजेंसी ऐसी कई नीतियों और उसके बदलाव पर विचार कर रही है जिसमें रोजगार आधारित वीजा कार्यक्रम की गहन समीक्षा भी शामिल है।”

अमेरिकी प्रशासन की तरफ ये घोषणा अमेरिका में रह रहे ए1बी वीजाधारक जो ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे हैं उनके लिए बड़ी राहत बनकर आयी है। अगर वीज़ा कार्यक्रम के तहत उनके वीजा बढ़ाने का प्रस्ताव स्वीकार हो जाता तो वहां से लाखों लोगों को बाहर होने पर मजबूर होना पड़ता।

Loading...