उत्तराखंड: प्रो. अन्नपूर्णा बनीं गढ़वाल केंद्रीय विवि की पहली महिला कुलपति

0
प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने गढ़वाल विवि के कुलपति का कार्यभार ग्रहण कर लिया है। विवि के कुलपति प्रो. एबी भट्ट के सेवानिवृत्त होने पर शनिवार को प्रो. नौटियाल ने कार्यभार ग्रहण किया। प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल गढ़वाल विवि के केंद्रीय विवि बनने के बाद पहली कार्यवाहक महिला कुलपति हैं।

पिछले वर्ष दिसंबर माह में केंद्र सरकार ने गढ़वाल विवि के कुलपति प्रो. जेएल कौल को पद से हटा दिया था। एमएचआरडी के निर्देशानुसार विवि के वरिष्ठ प्रो. एबी भट्ट को विवि के कार्यवाहक कुलपति का कार्यभार सौंपा गया था।

प्रो. एबी भट्ट के  सेवानिवृत्त  होने पर वरिष्ठतम प्रोफेसर अन्नपूर्णा नौटियाल ने विवि के कुलपति पद का कार्यभार ग्रहण किया। प्रो. नौटियाल गढ़वाल विवि बनने के बाद पहली महिला कार्यवाहक कुलपति हैं। हालांकि राज्य विवि के दौरान पूर्व में प्रो. सुशीला डोभाल व डा. सुधारानी पांडे गढ़वाल विवि की कार्यवाहक कुलपति रह चुकी हैं।

नव नियुक्त कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने कहा कि विवि के विकास के लिए कार्य करना उनकी प्राथमिकता है और वह इसके लिए अपना सर्वोत्तम प्रयास करेंगी। प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल के कार्यभार ग्रहण करने पर कुलसचिव डा. एके झा, डीएसडब्ल्यू प्रो. सुरेखा डंगवाल, मुख्य नियंता प्रो. एचबीएस चौहान, छात्र संघ अध्यक्ष प्रदीप रावत, शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष राजेंद्र भंडारी, सुनील रावत , पूर्व अध्यक्ष नरेश खंडूड़ी व मनोज रावत सहित सभी कर्मचारियों शिक्षकों ने स्वागत किया।

परिचय- प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल

प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने वर्ष 1190 में गढ़वाल विवि के राजनीति विज्ञान विभाग में प्रवक्ता के तौर सेवा शुरू की थी। नौटियायल ने कुमाऊं विवि से राजनीति विज्ञान में परास्नातक करने के बाद इसी विवि से शोध कार्य किया था। गढ़वाल विवि में आने से पूर्व अन्नपूर्णा नौटियाल ने कुमाऊं विवि मे शिक्षक के तौर पर अपनी सेवाएं भी दी।

प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल गढ़वाल विवि में विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रही। वर्तमान में प्रो. नौटियाल स्कूल ऑफ सोशल सांइस के डीन पद पर तैनात थी। इसके अलावा प्रा.े नौटियाल वर्ष जुलाई 2004 से विवि के महिला उत्पीडन निवारण स्थाई प्रकोष्ठ नोडल अधिकारी भी हैं।

प्रो. नौटियाल गढ़वाल विवि की कार्यपरिषद व एकेडमिक परिषद सदस्य भी है। वर्ष 2007 से 2010 तक वह कला संकाय की डीन भी रही। इसके अलावा प्रो. नौटियाल ने कई रिसर्च प्रोजेक्ट भी संचालित किए।

Loading...