उत्तराखंड प्रवासी बेताब हैं उत्तराखंडी झलक देखने को

0
dsc_6820-copy

उत्तराखंड प्रवासी बेताब हैं उत्तराखंडी झलक देखने को
उत्तराखंड की विरासत और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए उत्तरांचल फ्रैडर्स आॅर्गनाइजेशन द्वारा उत्तराखंड उत्सव का आयोजन किया जा रहा हैै। जो 20 से 23 दिसंबर को मुंबई के बोरीवली में आयोजित होगा। जिसमें उत्तराखंड का कल्चर तो होगा ही, साथ ही होगा पारंपरिक गढ़भोज भी होग। युएफओ के चैयरमैन एवं एमडी मूवी मैजिक इंटरटेंटमेंट प्रा. लि. राजेश नेगी ने आज प्रैस वार्ता कर बताया कि इस उत्सव के लिए गंगोत्री धाम खरसारी से 12 दिसंबर को कलश यात्रा निकलेगी जो हरिद्वार होते हुए मुंबई तक निकाली जाएगी और गंगा जल प्रसाद के रूप में भी दिया जाएगा। साथ ही उनहोंने बताया कि पहाड़ी व्यंजनों की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। और मुंबई में उत्तराखंड की छवि को दर्शाना ही हमारा प्रमुख उद्देश्य है। साथ ही उन्होंने बताया कि मुबंई में  इस दौरान गंगोत्री धाम की डोली भी लगाई जाएगी और पहली बार मुंबई में गंगा का पदार्पण भी होगा। वहीं उन्होंने कहा कि यह तभी संभव हो पाया है जब जीटीएम के सीएमडी तुषार जी व नरेन्द्र सिंह नेगी, सेमवाल, उनियाल और कल्पना चैहान के पूर्ण सहयोग टीम को मिला।
प्रोग्राम रूप रेखा-
20 दिसंबर – कल्पना चैहान, रोहित चैहान, शैलेन नेगी, मोना भट्ट, हास्य कलाकार घन्नानंद और गु्रप
21 दिसंबर- गढ़रत्न नरेन्द्र सिंह नेगी, मीना राणा।
23 दिसंबर- संगीता ढ़ौढ़ियाल, जितेन्द्र तुमक्याल, प्रभाकर जोशी, नुपुर पंत, माधुरी पांण्डे ।
इस दौरान प्रैस वार्ता में कल्पना चैहान, नरेन्द्र सिंह नेगी, मास्टर रोहित चैहान
आपको बता दें कि मंुबई में इससे पहले भी कई उत्तराखंडी आयोजन हो चुके हैं लेकिन इस बार का यह आयोजन बेहद खास होगा। क्योंकि इस बार युवा उत्तराखंड को व्यापक रूप से गढ़वाल का कल्चर दर्शायेंगें। जिसको लेकर अभी से मुबंई प्रवासी इस आयोजन का बेताबी से इंतजार कर रहे हैं। इस दौरान गढ़रत्न नरेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि भले ही मंुबई में हर वर्ष गढ़वाल उत्सव मनाए जाते हैं लेकिन यह विशेष होगा क्योंकि इस बार युवा उत्तराखंड को व्यापक रूप से इसे दर्शाना चाहते हैं। इससे उत्तराखंड का कल्चर का भी प्रचार- प्रसार होगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इसमें कई लोक कलाकार भी अपने मुधुर सुर-संगीत के माध्यम से उत्तराखंड की छवि को बरकरार रखेंगें।
Loading...