उत्तराखंड: चारधाम रोड और राष्ट्रीय राजमार्गों की प्रगति रिपोर्ट 22 को जांचेंगे गडकरी

0

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी उत्तराखंड में चारधाम ऑलवेदर रोड परियोजना समेत प्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्गों के चौड़ीकरण की योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट जांचेंगे। उन्होंने उत्तराखंड राज्य में 100 करोड़ रुपये से ऊपर की योजनाओं पर अब तक की प्रगति का ब्योरा तलब किया है।

22 जनवरी को गुरुग्राम में एक अहम बैठक होगी, जिसमें गड़करी मंत्रालय, एनएचएआई, उत्तराखंड लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों और परियोजनाओं की कार्यदायी एजेंसियों के प्रतिनिधियों से प्रगति के बारे में जानकारी लेंगे।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, प्रदेश में 12 हजार करोड़ रुपये की चारधाम सड़क परियोजना के अलावा करीब चार हजार करोड़ रुपये की मंत्रालय और एनएचएआई की योजनाओं पर काम हो रहा है। लेकिन इनमें से कुछ योजनाओं की प्रगति पर्यावरणीय और अन्य कारणों से तेजी नहीं पकड़ पा रही है। सूत्रों का कहना है कि बैठक में गड़करी इन सभी पहलुओं पर चर्चा करेंगे और आवश्यक दिशा निर्देश जारी करेंगे।

इधर, केंद्रीय मंत्री की बैठक के मद्देनजर शासन स्तर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने 17 जनवरी को तैयारी बैठक बुलाई है। अपर मुख्य सचिव लोनिवि ओम प्रकाश एनएचएआई और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ एक दौर की बैठक कर चुके हैं। इन बैठकों में परियोजना की प्रगति का जायजा लेने के साथ उन कारणों की भी पड़ताल की गई है, जिनके प्रदेश स्तर पर समाधान हो सकते हैं। जिन मसलों के समाधान मंत्रालय या केंद्र सरकार के स्तर पर मुमकिन हैं, उन्हें केंद्रीय मंत्री के समक्ष रखा जाएगा।

प्रदेश में ये हैं प्रमुख परियोजनाएं

– 12 हजार करोड़ रुपये चारधाम ऑल वेदर परियोजना: पर्यावरणीय कारणों से कुछ हिस्सों में कार्य शुरू नहीं हुआ
– हरिद्वार-देहरादून राजमार्ग चौड़ीकरण: कार्य प्रगति पर, खनिज सामग्री की उपलब्धता का मसला
– चारधाम परियोजना के ऋषिकेश, जोशीमठ बाईपास और खांकरा में पुल निर्माण की मांग हो रही है
– एनएच74 के चौड़ीकरण मामले में आर्बिट्रेशन के सैकड़ों मामले लंबित
– हरिद्वार-नगीना व नगीना-काशीपुर के निर्माण के लिए खनिज सामग्री उपलब्धता
– रुड़की छुटमलपुर राजमार्ग, एनएच 125 सितारगंज टनकपुर राजमार्ग

Loading...