संजय भट्ट- इन हालातों को सरकार को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि पहाड़ पर स्वास्थ्य व्यवस्था भी लचर ही है।

गढ़वाल के पांचों पहाड़ी जिलों में हर दूसरा व्यक्ति संक्रमित :पॉजिटिविटी दर 43%

और टेस्टिंग मात्र 800 व्यक्ति प्रति जिला :संजय भट्ट

संजय भट्ट। समूचे उत्तराखण्ड में जहां एक ओर कोरोना सनकररमितों के हालात सुधरते दिख रहे हैं वहीं गढ़वाल के सभी 5 जिलों में हालात बदतर हो रहे हैं। रविवार 16 मई को जारी सरकारी आंकड़ों पर नजर डालें तो गढ़वाल के सभी पहाड़ी जिलों उत्तरकाशी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, चमोली व पौडी गढ़वाल में हर दूसरा व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला।

उत्तराखण्ड: गढ़वाल के सभी 5 पहाड़ी जिलों पर हालात भयावह-

रविवार को पॉजिटिविटी लगभग-
गढ़वाल के 5 पहाड़ी जिले – 43%
देहरादून – 25%
उत्तराखण्ड – 21%

गढ़वाल के पहाड़ी जिले
4176 टेस्टिंग, 1807 पॉजिटिव
देहरादून
4917 टेस्टिंग, 1248 पॉजिटिव
उत्तराखण्ड
21224 टेस्टिंग, 4496 कोरोना पॉजिटिव

इन हालातों को सरकार को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि पहाड़ पर स्वास्थ्य व्यवस्था भी लचर ही है। साथ ही दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र जहां न रास्ता न गाड़ी न अस्पताल, दूसरी व्यवस्थाओं की तो बात ही क्या करें।

यहां एक बात ओर है कि अब उत्तराखण्ड में कोरोना टेस्टिंग भी घटा दी गई है, जहाँ पहले उत्तराखण्ड में 30-35 हजार रोज की टेस्टिंग थी वह अब 20 हजार रोजाना के करीब है। रविवार को भी मात्र 21224 कोरोना टेस्ट ही हुए।

जबकि जरूरत टेस्ट बढ़ाने की है, अगर टेस्ट नहीं बढ़ाए गए तो मृत्यु दर बढेगा, बात सिर्फ आंकड़ों की नहीं धरातल पर बढेगा। वैसे भी उत्तराखण्ड में कोरोना का मृत्यु दर 1.67% है जो राष्ट्रीय मृत्यु दर 1.1% से काफी अधिक व डरावना है।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed