भारत कश्मीर की पूर्व स्थिति बहाल करे तो पाक वार्ता को तैयार, इमरान ने फिर अलापा कश्मीर का राग

भारत के साथ संबंध सुधारने की चंद मीठी बातों के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फिर से कश्मीर का राग छेड़ा है। कहा है कि पाकिस्तान भारत के साथ वार्ता शुरू करना चाहता है। लेकिन इसके लिए जम्मू-कश्मीर में अगस्त 2019 से पहले वाली स्थिति बहाल करनी होगी।

उल्लेखनीय है कि पांच अगस्त, 2019 को भारत ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया था। भारत कई मौकों पर स्पष्ट कर चुका है कि जम्मू-कश्मीर उसका अभिन्न अंग है, इसलिए वहां के बारे में कोई भी फैसला लेने का भारत को अधिकार है।

इमरान ने कहा- यदि पाक भारत से वार्ता करता है तो कश्मीर मसले से पीछे हट जाना होगा

लोगों द्वारा सीधे पूछे जा रहे सवालों के जवाब देते हुए इमरान ने कहा, अगर पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर की पूर्व स्थिति बहाल हुए बगैर भारत के साथ वार्ता करता है तो वह कश्मीर मसले से पीछे हट जाना होगा। भारत अगर इस बात को समझता है और जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त, 2019 से पूर्व वाली स्थिति बहाल करता है तो पाकिस्तान निश्चित रूप से उसके साथ वार्ता करेगा।

भारत ने कहा- जम्मू-कश्मीर की बेहतरी के लिए हर फैसला लेने का मुझे हक है

जबकि भारत कह चुका है कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा और सीमापार आतंकवाद रोके जाने के बाद ही वह पाकिस्तान के साथ किसी तरह की वार्ता करेगा। भारत ने यह भी साफ किया है कि जम्मू-कश्मीर की बेहतरी के लिए हर फैसला लेने का उसका हक है।

दोनों देशों के रिश्तों में गिरावट

2016 में पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के बाद से दोनों देशों के रिश्ते गिरावट की ओर हैं। उसके बाद उड़ी में सेना के शिविर और पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमलों के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्ते हद से ज्यादा बिगड़ गए थे। इन्हीं हमलों के बाद भारतीय सेना ने गुलाम कश्मीर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की थी और वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी ठिकाने को बर्बाद किया था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed