धस्माना ने स्वास्थ्य महानिदेशालय दफ्तर पर बोला धावा,एक घण्टे तक दिया धरना व किया डीजी का किया घिराव

युवाओं की वैक्सीन व ब्लैक फंगस के इंजैक्शन के लिए धस्माना ने स्वास्थ्य महानिदेशालय दफ्तर पर बोला धावा,एक घण्टे तक दिया धरना व किया डीजी का किया घिराव
डीजी ने वैक्सीन की कमी स्वीकारी और ब्लैक फंगस के 15000 ऐम्फोटेरिसिन इंजैक्शन रात तक पहुंचने का दिया भरोसा
अब हालात न सुधरे तो एक घण्टे नहीं बोरिया बिस्तर ले कर आ जाऊंगा-धस्माना
देहरादून: राज्य में अट्ठारह प्लस के टीकाकरण के ठप्प पड़ जाने व ब्लैक फंगस के इंजैक्शन की अनुपलब्धता के खिलाफ आज उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण महा निदेशालय पर धावा बोल दिया। श्री धस्माना दोपहर साड़े बारह बजे ,प्रदेश सचिव पीसीसी विकास नेगी, पूर्व पार्षद ललित भद्री, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेश जोशी व उदयवीर सिंह के साथ स्वास्थ्य महा निदेशक के सहस्त्रधारा रोड स्थित दफ्तर पहुंचे और जाते ही वहां धरना लगा दिया। धरने के दौरान प्रेस को संबोधित करते हुए श्री धस्माना ने कहा कि आज पूरे राज्य में अट्ठारह प्लस आयु वर्ग का कोविड टीकाकरण पूरी तरह ठप्प पड़ गया है और राजधानी देहरादून समेत पूरे प्रदेश में टीकाकरण केंद्रों में धक्के खा रहा है किंतु सभी जगह टीका समाप्त का नोटिस चस्पा हो रक्खा है। उन्होंने कहा कि अभी तक राज्य में बामुश्किल दो प्रतिशत लोगों को वैक्सीन लग पाई है और अगर इसी गति से टीकाकरण हुआ तो अगले तीन वर्षों तक टीका नहीं लग पायेगा। श्री धस्माना ने कहा कि केंद्र सरकार ने टीकाकरण की सारी जिम्मेदारी राज्य सरकारों पर डाल कर अपना पल्ला झाड़ लिया और राज्य सत्कारें टीका मांगने में नाकाम साबित हो रही हैं और भुगतना जनता को पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री जो बड़ी बड़ी डींगें हांकते हैं उनको देश भर के नागरिकों के लिए टीके का इंतज़ाम करना चाहिए ये काम राज्य सरकारों के बस का नहीं है।
ब्लैक फंगस व्हाइट फंगस व येलो फंगस ने पूरे राज्य में दहशत फैला रक्खी है और लगातार इसके मामले बढ़ रहे हैं , उन्होंने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि हमारी तैयारी पुख्ता है किंतु आलम यह है कि आज भी मरीज तड़प रहे हैं बिना इंजैक्शन के और उनके तीमारदार भटक रहे हैं इंजैक्शन के लिए । श्री धस्माना ने एक घण्टे तक धरना दिया व तत्पश्चात वे स्वास्थ्य महा निदेशिका डॉक्टर तृप्ति बहुगुणा के कक्ष में पहुंच गए और उन्होंने ये सारे सवाल उन पर दागते हुए पूछा कि वे बताएं कि अट्ठारह प्लस का टीकाकरण क्यों ठप्प पड़ गया और ब्लैक फंगस का इंजैक्शन क्यों नहीं मिल रहा । डीजी ने श्री धस्माना को बताया कि वास्तव में अट्ठारह प्लस का टीका समाप्त हो चुका है और अभी वे निश्चित तौर पर यह नहीं बता सकती कि कब आएगा किन्तु एक लाख बासठ हज़ार जून के दूसरे सप्ताह तक आ सकता है। ब्लैक फंगस के इंजैक्शन की स्थिति पर उन्होंने फोन पर ड्रग कंट्रोलर से पूछा तो ड्रग कॉंट्रोलर की सूचना पर उन्होंने श्री धस्माना को बताया कि देर रात तक पंद्रह हजार ऐम्फोटेरीसीन इंजैक्शन आ जाएंगे और फिर इनकी कमी नहीं होगी। डॉक्टर बहुगुणा ने ये भी बताया कि शीघ्र इंजैक्शन टोकलीजुमेब भी उपलब्ध हो जाएगा और अब राज्य में रैमिडिसेवर की कोई कमी नहीं है। श्री धस्माना ने इस बात पर नाराजगी जाहिर करी कि मरीजों के तीमारदारों को दवा व इंजैक्शन के लिए दर दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं और दवा तथा इंजैक्शन की उपलब्धता का कोई संतोषजनक उत्तर उन्हें नहीं मिलता इसलिए जब सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज के लिए अस्पतालों को सूचीबध्द कर अधिकृत कर दिया है तो दवा व इंजैक्शन मरीज के नाम से सीधे अस्पताल को उपलब्ध करा दिया जाए। उन्होनें कहा कि इतने दिनों बाद भी सरकार व स्वास्थ्य विभाग स्थितियों को नियंत्रण में नहीं कर पाए हैं और अगर शीघ्र स्थितियां को काबू नहीं किया गया तो वे अब एक घण्टे का धरना नहीं बोरी बिस्तर ले कर अनिश्चितकालीन धरना लगाने के लिए मजबूर हो जाएंगे। डीजी हैल्थ ने कहा कि विभाग पूरी मेहनत कर रहा है और वो ऐसी नौबत नहीं आने देंगी।
श्री धस्माना के साथ विकास नेगी, ललित भद्री, महेश जोशी, उदयवीर पंवार, संदीप चमोली, नवनीत कुकरेती भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed