उत्तराखंड पंचायत चुनाव: निर्वाचन आयोग ने खर्च की सीमा की दोगुनी

0
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटे राज्य निर्वाचन आयोग ने खर्च की सीमा को दोगुना कर दिया है। साथ ही नामांकन पत्रों के शुल्क से लेकर जमानत राशि तक में बढ़ोत्तरी कर दी गई है।

इससे पहले, वर्ष 2013 में राज्य निर्वाचन आयोग ने व्यय सीमा, जमानत राशि और नामांकन पत्रों के शुल्क में बढ़ोतरी की थी। राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट की ओर से इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

पंचायत चुनाव का कार्यक्रम अभी जारी नही हुआ है। राज्य निर्वाचन आयोग इससे पहले की प्रक्रिया में जुटा हुआ है। मतदाता सूची को अंतिम रूप दिया जा रहा है। जुलाई-अगस्त में हरिद्वार को छोड़कर बाकी 12 जिलों में पंचायतों का कार्यकाल खत्म हो रहा है।

अधिकतम व्यय राशि (रुपये में)

पद                                         अब              पहले
सदस्य ग्राम पंचायत                  10000        5000
उपप्रधान, ग्राम पंचायत               15000       7500
प्रधान ग्राम पंचायत                    50000       25000
सदस्य क्षेत्र पंचायत                   50000        25000
सदस्य जिला पंचायत                1,40000      70000
कनिष्ठ उपप्रमुख                       50000        25000
ज्येष्ठ उपप्रमुख                         60000         30000
प्रमुख क्षेत्र पंचायत                   1,40000       70000
उपाध्यक्ष जिला पंचायत             2,50000       125000
अध्यक्ष जिला पंचायत               3,50000       175000
Loading...